Passive Business: यदि आप सोते समय पैसे नहीं कमाते हैं तो आप मरते दम तक काम ही करते रहोगे।

बिज़नेस शिक्षा-नौकरी

अपनी पिछली पोस्ट में मैंने आपको रॉबर्ट कियोसाकी की किताब से एक सबक बताया था। अब इसी किताब का दूसरा सबक मैं इस पोस्ट में बता रहा हूं।

इस किताब का एक दूसरा सबक यह है कि आप अपने पैसे के लिए काम ना करें, बल्कि आप अपने पैसे से अपने लिए काम कराएं। आपको एक्टिव बिजनेस के बजाय पैसिव बिजनेस करना है। उदाहरण के लिए यदि आप नौकरी करते हैं तो आप अपने पैसे के लिए काम कर रहे हैं, जिस दिन आप अपनी यह नौकरी करना बंद कर देंगे, उसी दिन आप की कमाई भी बंद हो जाएगी। अब आप अपनी पूरी जिंदगी मरते दम तक नौकरी तो नहीं कर सकते ना? तो फिर रिटायरमेंट के बाद पैसा कहां से आएगा? क्या आप अपनी सीमित कमाई में से अपना पेट काटकर एक-एक पाई जोड़कर अपने बुढ़ापे के लिए थोड़ा-सा धन बचाना चाहते हैं या फिर आप चाहते हैं कि आप एक ऐसा बिजनेस खोलें जहां पर आपका पैसा अपने आप बढ़ रहा हो और आपको रोज सुबह उठकर भागते-भागते बॉस की डांट खाने के लिए अपने ऑफिस में हाजिर भी ना होना पड़े? आपके पास अपनी जिंदगी को जीने का भी टाइम हो।

यदि आप मेरी तरह दूसरे ऑप्शन से सहमत हैं तो आप अपना बिजनेस करना शुरु कीजिए। जो लोग अभी नौकरी कर रहे हैं और नौकरी नहीं छोड़ना चाहते वह लोग पैसिव बिजनेस कर सकते हैं। पैसिव बिजनेस जैसे म्यूच्यूअल फंड, स्टॉक मार्केट आदि में अगर आप पैसा लगाते हैं तो आप भले ही उन्हें दो-चार साल के लिए छूते तक नहीं है तो भी आपका पैसा बढ़ रहा होता है। आप अपने परिवार के साथ कहीं छुट्टियां भी मना रहे हो तो भी आपके म्यूचल फंड, बिजनेस आदि में पैसा बढ़ रहा होता है। जबकि नौकरी के साथ ऐसा नहीं है। तो हमेशा ऐसी जगह पर पैसे लगाएं जहां पर आप के समय की जरूरत ना हो। आप का फिजिकली वहां पर उपस्थित होना जरुरी ना हो। दुनिया की सबसे सक्सेसफुल कंपनी एप्पल के को-फाउंडर और सीईओ स्टीव जॉब्स ने कहा था कि मैं अपने दो हाथों से पैसे कमा कर अमीर नहीं बन सकता। मैं अमीर तभी बन पाऊंगा जब हजारों लोग मेरे लिए काम कर रहे हों। यदि आप किसी कंपनी में काम कर रहे हैं तो आप खुद को अमीर नहीं बना रहे हैं बल्कि उस कंपनी को अमीर बना रहे हैं।

यदि आप फुल टाइम देना चाहते हैं और अपनी नौकरी छोड़ सकते हैं या फिर नौकरी नहीं करते हैं तो आप एक्टिव बिजनेस से भी शुरू कर सकते हैं जैसे की कोई नया बिजनेस या कंपनी खोल कर। यदि आप अपनी खुद की कंपनी खोलते हैं और हजारों लोग आपके लिए काम करते हैं तो वह हजारों लोग खुद को अमीर ना बनाकर आपको अमीर बना रहे होंगे और आप चाहें तो छुट्टियां बिताने भी जा सकते हैं फिर भी आप अमीर बनते रहेंगे।

अब आप सोच रहे होंगे कि बिजनेस खोलना या कंपनी खोलना कोई आसान काम तो है नहीं। इसके लिए बहुत सारा पैसा चाहिए। लेकिन ऐसा नहीं है, बिजनेस खोलने के लिए पैसे की नहीं जुनून की आवश्यकता होती है। यदि आप अपने मन में ठान लें कि मुझे बिजनेस करना है तो आपकी कंपनी बनने से कोई नहीं रोक सकता। Hewlett Packard जिसे हम आज HP के नाम से जानते हैं ने 1939 में अपना बिजनेस $538 से शुरू किया था और यह बिजनेस एक गैरेज में शुरू हुआ था। दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन रिटेलर अमेजन की शुरुआत भी HP की तरह ही एक गैरेज से शुरू हुई थी। गूगल की शुरुआत भी एक गैरेज से ही हुई थी। फेसबुक की शुरुआत एक यूनिवर्सिटी के लड़के मार्क जकरबर्ग ने की थी। उसका इन्वेस्टमेंट बस उसका एक लैपटॉप और यूनिवर्सिटी की तरफ से फ्री इंटरनेट था।

आप चाहे तो कोई भी छोटा बिजनेस शुरू कर सकते हैं जिसमें अधिक पैसे की आवश्यकता ना हो। अपनी अगली पोस्ट में मैं आपको ऐसे कई बिजनेसेज के बारे में बताऊंगा जो आप बहुत ही कम पैसे से शुरु कर सकते हो। शुरू में आप खुद ही उस बिजनेस को संभालिए। बाद में धीरे-धीरे जब बिजनेस ग्रो करने लगे, तब उसमें अन्य कर्मचारियों को जोड़िए। एक समय बाद वह बिजनेस सेल्फ एस्टेब्लिश हो जाएगा और आप की उपस्थिति की इतनी ज्यादा आवश्यकता वहां पर नहीं होगी। तब आप उसके साथ ही कोई दूसरा बिजनेस भी खोल सकते हैं।

 

कृपया अपने विचार यहाँ लिखें.....

%d bloggers like this: