कृषि यंत्रों पर किसान को मिलेगा अनुदान।

कृषि

कृषि विभाग की ओर से मैक्रो मैनेजमेंट आफ एग्रीकल्चर योजना के तहत किसानों को खेती-किसानी से जुड़े यंत्र खरीदने पर वित्तीय वर्ष 2012-13 में 25 से 50 फीसदी तक अनुदान दिया जाएगा। जो किसान अनुदान पर यंत्र लेने के इच्छुक हैं उन्हें पहले आवेदन पत्र जमा करना पड़ेगा।उप कृषि निदेशक डीएस राजपूत ने बताया कि मानव चालित कृषि यंत्र चैप कटर, हैंड बिनोइंग, हैंड आपरेटेड पैडी थ्रेसर, ड्रम सीडर, पैडी ट्रांसप्लांटर पर निर्धारित मूल्य का 25 फीसदी या फिर अधिकतम 2000 रुपये तक अनुदान मिलेगा। बैल चालित कृषि यंत्र कल्टीवेटर, हैरो आदि पर निर्धारित मूल्य का 25 फीसदी या अधिकतम 2500 रुपये, शक्ति चालित यंत्र डिस्क हैरो, कल्टीवेटर, एमबी डिस्क प्लाउ, सीडकम फर्टिड्रिल पर निर्धारित मूल्य का 25 फीसदी या अधिकतम 10 हजार, विशिष्ट शक्ति चालित यंत्र पुटैटो प्लांटर, पोटेटो डिगर, पावर बीडर पर निर्धारित मूल्य का 25 फीसदी या अधिकतम 15 हजार रुपये, जीरो टिल सीडकम फर्टिलाइजर ड्रिल, रेज्ड वेड प्लांटर, रोटावेटर, स्ट्रारीपर, क्राप रीपर, ब्रांडर, हैप्पी सीडर पर निर्धारित मूल्य का 40 फीसदी या फिर अधिकतम 20 हजार रुपये तक का अनुदान किसानों को दिया जाएगा।इसी तरह ट्रैक्टर (40 हार्स पावर तक) खरीद पर मूल्य का 25 फीसदी या अधिकतम 45 हजार रुपये, पावर टिलर 8 हार्स पावर या उससे अधिक पर रेट का 40 फीसदी या 45 हजार रुपये तक, सभी प्रकार के पावर थ्रेसर पर निर्धारित मूल्य का 25 फीसदी या फिर अधिकतम 12 हजार रुपये, डीजल इलेक्ट्रक पंपसेट (7.5 बीएचपी, 5 किलो बाट तक खरीदने पर निर्धारित मूल्य का 50 फीसदी या 10 हजार रुपये तक का अनुदान पाने के हकदार किसान होंगे।आवेदन करते समय किसान को ग्राम प्रधान द्वारा प्रमाणित फोटो, खसरा, खतौनी, राशन कार्ड की छाया प्रति, ट्रैक्टर चालित यंत्रों के लिए आरसी की छायाप्रति लगानी पड़ेगी। उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी कार्यालय कन्नौज, छिबरामऊ और तिर्वा के कार्यालयों, उप कृषि निदेशक कार्यालय कार्यालय में आवेदन पत्र जमा किए जा सकते हैं।

कृपया अपने विचार यहाँ लिखें.....